एसएससी सीजीएल (SSC CGL) पेपर लीक- सीबीआई ने 10 सिफी कर्मचारियों समेत 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर की दर्ज

Last Modified: 11 Aug 2022

सीबीआई ने एसएससी सीजीएल (SSC CGL) परीक्षा के मामले को लेकर कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। सीबीआई ने 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। एसएससी सीजीएल (SSC CGL) परीक्षा के पेपर लीक करने में 10 सिफी टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेडके कर्मचारी समेत 17 लोग शामिल हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को कर्मचारी चयन आयोग के सीजीएल पेपर लीक होने से संबंधित जानकारी दी गई थी।एजेंसी ने सिफी के चेन्नई, नोएडा, मुंबई और दिल्ली स्थित कार्यालयों के साथ ही शेख सराय इलाके में उसके एक कर्मचारी संत प्रसाद गुप्ता के घर पर छापेमारी समेत 12 जगहों पर जांच-पड़ताल की थी।

सीजीएल टीयर-II (Combined Graduate Level Tier- 2) 2017 परीक्षा 21 फरवरी2018 को आयोजित होने से पहले ही इसकी उत्तर कुंजी लीक हो चुकी थी। परीक्षा शुरू होने से पहली सोशल मीडिया पर उत्तर कुंजी वायरल हो गई थी। सीबीआई ने एफआईआर में सात स्टूडेट्स के नाम भी आरोपी के तौर पर दर्ज किए हैं, जो परीक्षा में शामिल हुए थे।

इन स्टूडेंट्स पर प्रश्नपत्र के स्क्रीनशॉट के आधार पर मामला दर्ज किया गया जो पेपर लीक किया गया था और सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इन छात्रों को भी हिरासत में लिया गया है।  सीबीआई के मुताबिक प्रश्न पत्र इस तरीके से तैयार किए गए थे कि उम्मीदवारों को प्रश्न पत्र एक तय ‘क्रम’ में मिलें जो एक परीक्षा केंद्र के लिए आसान हो।

सीबीआई उन सात स्टूडेंट्स को पकड़ने में सफल रही, जिन्हें परीक्षा में लीक हुए सवालों के पैटर्न के आधार पर छात्रों कोखास पैटर्न पर मिले थे।

संत प्रकाश गुप्ता सिफी में प्रश्न बैंक के संरक्षक थे और उनके साथ 9 और कर्मचारी थे जो उन सात परीक्षा केंद्रों पर साइट मैनेजर थे। जब कर्मचारी चयन आयोग ग्रुप बी और ग्रुप सी की सेवाओं में भर्ती के लिए असीम खुराना अध्यक्ष थे तब सीजीएल परीक्षा ऑनलाइन कराने का भार 12 अप्रैल 2016 को सिफी टेक्नोलॉजीज कंपनी को सौंपा गया था।

Click Here To Read This News In English

0 Comments