नीट (NEET) 2018- जीवविज्ञान, रसायन विज्ञान रहे आसान और भौतिकी रहा सबसे कठिन

Last Modified: 08 Dec 2022

सीबीएसई नीट (National Eligibility cum Entrance Test)2018 का पेपर 6 मई को उर्दू समेत कई अन्य भाषाओं में आयोजित किया जा चुका है, जिसमें हिंदी, अंग्रेजी, असमी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, उड़ीया, तमिल और तेलुगू आदि भाषाएं शामिल हैं। देशभर में नीट (NEET) परीक्षा एमबीबीएस / बीडीएस कोर्स में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आयोजित की जाती है। स्टूडेंट्सइन कोर्सो में एडिशन के लिए परीक्षा में भाग लेते हैं।

नीट (NEET) 2018 परीक्षा के बाद जीवविज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान विषयों का विश्लेषण किया गया है। अबकी बार का नीट का पेपर आसान बताया जा रहा है, ना ज्यादा मुश्किल, ना सरल। दिल्ली के करोल बाग परीक्षा केंद्र के उम्मीदवारों का कहना है कि पेपर मध्यम स्तर का था, जिसे जटिल नहीं का जा सकता।

भौतिक विज्ञान-

आमतौर पर भौतिक विज्ञान तीनों विषयों में से मुश्किल माना जाता है। इस बार के पेपर में कई ज्यादा कैलकुलेशनके आधार पर प्रश्न लंबे और मध्यम स्तर पूछे गए हैं। पिछले साल से तुलना की जाए तो इस बार स्टूडेंट्स के मुताबिक संख्यात्मक आधारित प्रश्न कठिन थे।

रसायन और जीवविज्ञान-

रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान से संबंधित प्रश्न डायरेक्ट और सिंपल पूछे गए थे। कैंडिडेट्स के लिए इन विषय के प्रश्नों के उत्तर देना आसान रहे। नीट (NEET) 2018 परीक्षा में 70-80 प्रतिशत प्रश्न इसी सिलेबस में से आए थे।

नीट (NEET) 2018 पेपर पैटर्न-

एक पेपर में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान सेसंबंधित 180 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह तीन अनुभागों में पेपर आता है।

  1. भौतिक विज्ञान में 45 प्रश्न पूछे जाते हैं।
  2. रसायन विज्ञान में 45 प्रश्न पूछे जाते हैं।
  3. जीवविज्ञानमें भी अलग-अलग 45 प्रश्न पूछे जाते हैं।
  4. यह परीक्षा कुल 720 अंक की होती है। प्रश्न पत्र हल करने के लिए तीन घंटे मिलते हैं।
  5. परीक्षा डिजाइन शीट और पैन परीक्षा केंद्र की और से प्रदान किया जाता है।

Click Here To Read This News In English

नीट Previous Years Solved Papers

  • NEET Exam 12 Years Solved Papers (E-Book) Download

0 Comments