परीक्षा के दौरान छात्रों के लिए तनाव को दूर करने के 10 आसान तरीके, जानिए

Published on : 1st March 2018    Author : Tanvi Mittal
all

आजकल भागती-दौड़ती जिंदगी में तनाव थोड़ा बहुत सभीको होता है, पर किसी भी चीज का अधिक होना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है। तनाव बढ़ने पर मानसिक और शारीरिक असर पड़ने लगता है। आजकल के बच्चे छोटी-छोटी बातों से ही टेंशन लेने लगते हैं। ऐसे ही एससीईआरटी (State Council of Educational Research and Training) के सर्वे में सामने आया है कि 9वीं-12वीं कक्षा के 60 प्रतिश्त स्टूडेंट्स परीक्षाके तनाव से गुजर रहे हैं। परीक्षा को लेकर छात्रों में तनाव सेहत के लिए नुकसानदेह होता है।

राज्य स्तर पर एससीईआरटी (SCERT) के द्वारा किए गए सर्वे में दिल्ली के 61 प्रतिशत सरकारी स्कूल के छात्र को परीक्षा की टेंशन और गुरुग्राम के 65 प्रतिशत छात्रों को परीक्षा में खराब प्रदर्शन का डर सता रहा है। यह सर्वे गुरुग्राम के 119 ब्लॉक जहां करीब 33,660 स्टूडेंट्स नें भाग लिया था।

इस सर्वे के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि छात्रों को परीक्षा के दौरान वो काम करना चाहिए जो उन्हें पसंद हैं। इससे छात्र अच्छे स्कोर प्राप्त कर सकते हैं।

संगीत किसी भी तरह के दबाब या तनाव को कम करने में मदद करता है। संगीत का अहम रोल होता है। इस सर्वे से यह भी पता चला कि 55 प्रतिशत छात्र परीक्षा के दौरान अपना स्ट्रेस दूर करने के लिए मन-पसंद संगीत सुनते हैं।

परीक्षा के दौरान तनाव दूर करने के टिप्स-

  1. म्यूजिक स्ट्रेस को मात देता है। दिमाग फ्रेश होने के बाद छात्र अच्छे से पढ़ाई में मन लगा सकते हैं।
  2. पेरेंट्स को परीक्षा के टाइम टेबल में सेबच्चों को ब्रेक देना चाहिए। उसे 24 घंटे पढ़ाई में ना घुसे रहने दें।
  3. परीक्षा के महीने में बच्चों के हावभाव से उनका तनाव साफ देखा जा सकता है। तो उन पर बहुत ज्यादा नंबर लाने का दबाव नहीं डालना चाहिए। उन्होंने जितना भी तैयार किया है, उसमें अपना बेस्ट दे पाएं।
  4. बच्चों को इस समय पर बाहर के जंग फूड देने की बजाए पौष्टिक आहार और फलों का सेवन कराएं। जिससे उनकी स्मरण शक्ति बढ़ें और तनाव कम हो।
  5. बच्चे के साथ सकारात्मक विचारों का आदान-प्रदान करना बहुत जरूरी होता है। उसके आत्मविश्वास को बढ़ाएं। बच्चों पर ज्यादा नंबर लाने का दबाव बनाना भारी पड़ सकता है। हर बच्चे की शैक्षणिक क्षमता अलग-अलग होती है।
  6. तनाव को कम करने के लिए बच्चों के साथ दोस्त की तरह व्यवहार रखना जरूरी होता है। ऐसे माहौल में वो अच्छे से पढ़ाई कर पाते हैं।

परीक्षा के दौरान बच्चों से रनिंग, जॉगिंग, साइक्लिंग भी कराएं, उन्हें मजा आएगा। जो बच्चों के तनाव को कम करती हैं।


all Previous Years Solved Papers



0 Comments