अब से नीट (NEET) और जेईई (JEE) परीक्षाएं साल में हो सकती हैं दो बार आयोजित

Last Modified: 04 Oct 2022

नीट (National Eligibility cum Entrance Test) और जेईई (Joint Entrance Examination) परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जा सकती हैं। इस फैसले पर अभी अंतिम निर्णय आना बाकी है। कुछ समय पहले से एनटीए (National Testing Agency) एजेंसी को लेकर भी चर्चा चल रही है। लोकसभा द्वारा मेडिकल प्रवेश नीट (NEET) और अभियांत्रिकी जेईई (JEE) परीक्षाओं को लेकर सूचित किया गया है।

एचआरडी के केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाह ने इस खबर के बारे में बताते हुए कहा कि अगर यह परीक्षाएं साल में दो बार होती हैं, तो छात्रों को महाविद्यालयों में दाखिला लेने का अच्छा अवसर मिलेगा। नीट (NEET) और जेईई (JEE) परीक्षा दो बार होने से छात्रों के लिए फायदेमंद होगी।  

एनटीए (NTA) जेईई मुख्य (JEE Main), नीट (NEET), यूजीसी नेट (UGC NET), सीटेट (CTET) आदि परीक्षाएं आयोजित करा सकती है। इस राष्ट्रीय ढांचे से करीब 40 लाख छात्रों को विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं का मौका मिलेगा। एनटीए (NTA) इन प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कराने वाली समितियों सीबीएसई (CBSE), एआईसीटीई (AICTE) और अन्य शैक्षिक एजेंसियों को राहत देगी।

एनटीए (NTA) से उम्मीद है कि छात्रों और प्रशासन के लिए परीक्षा में आने वाली परेशानियों को खत्म करेगी।

सीबीएसई (CBSE) समिति अलग-अलग 9 परीक्षाएं आयोजित कराती है, जिसमें प्रसिद्ध जेईई मुख्य (JEE MAIN), नीट-यूजी (NEET-UG) और नेट (NET) परीक्षाएं आदि शामिल हैं।

दोनों में से सीबीएसई (CBSE) या एनटीए (NTA) परीक्षा कौन आयोजित कराएगा इस मुद्दे पर चर्चा चल रही है।

एनटीए (NTA) को उच्च शिक्षा के लिए संगठित किया जाएगा। एजेंसी एक स्वायत्त निकाय के रूप में कार्य करेगी।

Read this article in English

0 Comments